टेक ज्ञानताज़ादुनियाराष्ट्रीयशिक्षा

आईआरसीटीसी : रेलवे ने शुरू की ये पहल, यात्रियों को ऑनलाइन टिकट बनाने में होगी आसानी

देश की 50 फीसदी जनसंख्या लाभ उठा पाएगी

नयी दिल्ली : देश की धड़कन (भारतीय रेल) अपने यात्रियों की सुविधा के लिए नित्य नए तकनीक का प्रयोग करती है। इस बार भारतीय रेल ने यात्रियों की सुविधा के लिए ऑनलाइन टिकट में बदलाव किए हैं। इससे कोई भी व्यक्ति आसानी से टिकट हासिल कर सकता है।

जानिए कैसे-

ट्रेनों में यात्रा करने वाले वाले यात्रियों की ये काम की खबर है, क्योंकि भारतीय रेल यात्रियों की मदद के लिए नई पहल कर रही है. इसके कारण वे ऑनलाइन टिकट बनाने में आसानी होगी। आपको बता दें कि जब कोविड-19 का दौर आया तो रेलवे ने अनारक्षित टिकट के लिए भी ऑनलाइन बुकिंग की व्यवस्था शुरू कर दी। इसका उद्देश्य ट्रेनों में उतरी ही सवारी को बुकिंग देना है, जितनी की सीट है। यात्रियों को टिकट काउंटर में आकर लाइन में खड़ा न होना पड़े, इसके लिए रेलवे ने अनरिजर्वड टिकटिंग सर्विसेज (यूटीएस) सिस्टम शुरू किया। अब रेलवे ने अपनी इस सुविधा में विस्तार किया है, ताकि कोई भी यात्री आसानी से अपनी टिकट बना सके।

हिंदी में भी बना सकेंगे अपना टिकट

रेल मंत्रालय द्वारा जारी जानकारी के अनुसार अब तक यूटीएस द्वारा केवल अंग्रेजी में ही टिकटों की बुकिंग होती थी। वर्तमान में यूटीएस के 1.47 करोड़ से अधिक यूजर्स हैं और हर दिन यूजर्स की संख्या बढ़ती जा रही है। ऐसे में यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे ने हिंदी में भी टिकट बुकिंग की सुविधा दे रही है, ताकि यात्री अपनी भाषा में टिकट की बुकिंग कर सके। इसका लगभग देश की 50 फीसद जनसंख्या लाभ उठा पाएगी।

इस तरह से कर सकते हैं ऑनलाइन टिकट की बुकिंग

1. यूटीएस मोबाइल एप के जरिए टिकट बुक करने के लिए आपको सबसे पहले इसे अपने फोन में इंस्टॉल करें।

2. इसके बाद आपको इसके साथ अपना मोबाइल नंबर रजिस्टर करना होगा।

3. अब आप यहां पर अपनी आईडी बनाएं।

4. इसके बाद आपको ऐप में टिकट बुक करने के दो विकल्प दिखाई देंगे।

5. आप बुक एंड पेपर (पेपरलेस) और बुक एंड प्रिंट (पेपर) में से किसी एक को चुनकर टिकट बुकिंग प्रक्रिया शुरू कर सकते हैं।

6. यदि आप पेपरलेस का विकल्प चुनते हैं, तो आपको स्टेशन पर टिकट वेंडिंग मशीन से टिकट निकालने की आवश्यकता नहीं होगी।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker