ताज़ादुनियान्यूज़राष्ट्रीयशिक्षा

कड़ी मेहनत व लगन से ऋत्विक के सपने को लगा पंख

संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में हासिल किया 155वां रैंक

बोकारो (झारखण्ड) : कड़ी मेहनत व लगन से ऋत्विक श्रीवास्तव के सपने को पंख लग गया है। इन्होंने संघ लोक सेवा आयोग 2020 की परीक्षा में अखिल भारतीय स्तर पर 155 वां स्थान हासिल किया। इन्हें पहले ही प्रयास में इस परीक्षा में सफलता हाथ लगी। ऋत्विक के पिता बोकारो स्टील प्लांट के एचआरसीएफ विभाग में मुख्य महाप्रबंधक के पद पर कार्यरत हैं। माता सुनीता श्रीवास्तव गृहिणी हैं।

इन्होंने दिल्ली पब्लिक स्कूल बोकारो से 2010 में मैट्रिक एवं 2012 में आइएससी की परीक्षा उत्तीर्ण की। 2016 में आईआईटी कानपुर से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की। 2017 में आइआइटी कानपुर से एमटेक की पढ़ाई की। रायकेन, जापान की कंपनी से जुड़ कर शोध कार्य कर रहे हैं। कोरोना काल में बोकारो इस्पात नगर के सेक्टर चार बी स्थित आवास में रह कर शोध कार्य के साथ-साथ यूपीएससी की तैयारी में लगे रहे। इसकी तैयारी के लिए कहीं कोचिंग नहीं की। प्रत्येक दिन पांच से छह घंटा यूपीएससी की तैयारी करते रहे। वह स्कूली स्तर पर टेरा क्विज में चैंपियन थे। नेशनल टैलेंट साइंस एग्जामिनेशन में सफल रहे हैं। इन्हें संगीत से लगाव है।

ऋत्विक सिंथेसाइजर व ड्रम वादन में पारंगत हैं। यूपीएससी में इनका आप्शनल पेपर राजनीति विज्ञान था। उन्होंने कहा कि समय का सदुपयोग करना चाहिए। समय का प्रबंधन जरुरी है। इसके अनुरुप तैयारी करना चाहिए। नियमित रूप से अभ्यास करना चाहिए। भटकाव की स्थिति से बचना चाहिए। लक्ष्य साध कर कठिन परिश्रम करना चाहिए, तभी सफलता हाथ लगेगी। कहा कि माता-पिता ने सदैव आगे बढ़ने की सीख दी। माता ने आशावादी बनने की सलाह दी। माता-पिता व शिक्षकों के मार्गदर्शन का लाभ मिला। वह देश की सेवा करना चाहते हैं। इसलिए इस क्षेत्र का चयन किया। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता व शिक्षकों को दिया।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker