ताज़ान्यूज़

गुमला : चर्चित मिथिलेश साहू हत्याकांड का मुख्य सुपारी किलर गिरफ्तार

एक देशी कट्टा, एक पिस्टल, तेज धारदार हथियार व गोली बरामद

गुमला (झारखण्ड) : गुमला शहर के चर्चित मिथिलेश साहू हत्याकांड मामले में सदर थाना पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। बुधवार को पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर मिथलेश की हत्या में शामिल मुख्य सुपारी किलर गणेश तिवारी को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही उसके पास से एक देशी कट्टा, एक नाइन एमएम का पिस्टल, दो खोखा व घटना में प्रयुक्त खून लगा हुआ तेज धारदार हथियार बरामद किया है।

एसडीपीओ मनीष चंद्र लाल व थाना प्रभारी मनोज कुमार ने सदर थाना में प्रेस वार्ता कर गणेश के गिरफ्तारी की जानकारी देते हुए कहा कि 14 सितंबर को शहर के गोकुल नगर में दिनदहाड़े मिथिलेश साहू की गोली मारकर व गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड के बाद मृतक के भाई के द्वारा डुमरी थाना क्षेत्र के जैरागी गांव के रहने वाले प्रवीण साहू व उसके चचेरे भाई शुभम साहू के ऊपर हत्या की नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। पुलिस प्राथमिकी दर्ज कर घटना को गंभीरतापूर्वक लेते हुए हत्याकांड के उद्भेदन व आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर जुट गई थी। वहीं एसपी के निर्देश पर एक एसआईटी टीम का गठन किया गया था। साथ ही, टीम को वैज्ञानिक पद्धति से अनुसंधान करने को कहा गया था। तभी हत्या के शुरुआती अनुसंधान में पुलिस को कई अहम सुराग हाथ लगे थे। इनमे नामजद आरोपी प्रवीण साहू व शुभम साहू की घटना में संलिप्ता सामने आने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। फिलहाल दोनों जेल में बंद है।

इधर, अनुसंधान के क्रम में 4 अन्य अपराधियों के नाम सामने आए थे। इसके बाद पुलिस एक एक कर तीन अपराधियों यथा पुनीत ईश्वर व अजय राम को गिरफ्तार की थी। साथ ही पूछताछ के बाद इन्हें भी जेल भेजा गया था। तीनों ने पूछताछ में मिथिलेश की गोली मारकर व भुजाली से काटकर हत्या करने की बात स्वीकार की थी। साथ ही तीनों ने यह भी बताया कि था वह अपने साथी गणेश तिवारी के कहने पर उसके साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया था। मगर, घटना के बाद से वह फरार हो गया था। इसके बाद पुलिस गणेश की गिरफ्तारी को लेकर लगातार प्रयासरत थी, तभी बुधवार को गुप्त सूचना के आधार पर उसे ढोढरी टोली से गिरफ्तार कर ली। साथ ही उसके पास से एक पिस्टल,एक देशी कट्टा, दो खोखा बरामद किया गया। उसके निशानदेही पर खून लगा एक दाब ( तेजधारदार हथियार) बरामद किया गया।

दोंनो पदाधिकारियों ने कहा कि गणेश ने मिथलेश की हत्या के बावत बताया कि 6 साल पूर्व उसके बड़े भाई बीनू तिवारी की हत्या कर दी गई थी। हत्या से पूर्व उसके भाई द्वारा उसे बताया गया था कि मिथलेश साहू उसकी हत्या का प्लान बनाया है। चूंकि मिथलेश व बीनू एक ही साथ छोटे मोटे अपराध की घटना को अंजाम देते रहते थे, तभी दोनो के बीच चोरी के एक मामले को लेकर विवाद हो गया था, इसलिए भाई की हत्या के प्रतिशोध में गणेश ने मिथलेश की हत्या कर दी। दोनो पदाशिकारियो ने यह भी कहा कि मिथलेश की हत्या के दौरान फिजिकल तौर पर घटना स्थल में चार ही अपराधी मौजूद रहे है। जबकि पूर्व में हुए गिरफ्तारियों के बाद गणेश के साथ तीन लाख की सुपारी देने के बाद हत्या किये जाने का बात सामने आ चुकी है, इसलिए अनुसंधान अब भी जारी है। इस हत्याकांड में और भी लोगो के जुड़े होने की सम्भवना प्रबल है।

ज्ञात हो कि पूर्व में पुलिस ने इस हत्याकांड में शामिल नामजद आरोपी प्रवीण साहू व उसके चचेरे भाई शुभम साहू समेत अनुसंधान के क्रम में नाम सामने आने वाले पलामू जिला के आजादगंज थाना चेत्र के बरटोली गांव निवासी पुनीत एक्का उर्फ डॉन उर्फ छोटू, ईश्वर लकड़ा पिता सुशील अकड़ा ग्राम ढिढोली व अजय राम पिता जगत राम ग्राम बैरटोली थाना गुमला को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

एसआईटी टीम में ये ऑफिसर थे शामिल

एसआईटी टीम में अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मनीष चंद्र लाल, पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी मनोज कुमार, पुलिस अवर निरीक्षक विमल कुमार, कुंदन कुमार, मोहम्मद शारिक अली व आलोक कुमार शामिल थे।

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker