ताज़ादुनियान्यूज़राष्ट्रीय

जमुई के मरीज की ओपन हार्ट सर्जरी कर रिम्स ने बनाया शतक

पांच फरवरी, 2019 को रिम्स में किया गया था पहला ओपन हार्ट सर्जरी

रांची (झारखण्ड) : रिम्स के सुपरस्पेशियलिटी ब्लॉक के सीटीवीएस विभाग ने दो वर्ष सात माह में 100 ओपेन हर्ट सर्जरी कर कीर्तिमान स्थापित किया है। बुधवार को सीटीवीएस के सभी डाक्टरों ने इसे लेकर केक काटएक एक-दूसरे को बधाई दी। पांच फरवरी 2019 में यहां पहला ओपन हार्ट सर्जरी किया गया था। इस ऑपरेशन में पीजीआई चंडीगढ़ के चिकित्सकों की मदद ली गयी थी। इसके बाद विभाग सभी संसाधन से लैस हुआ और अब ओपन हार्ट सर्जरी में शतक पूरा कर लिया है। सीटीवीएस विभाग को 2019 में ओपन हार्ट सर्जरी के लिए जरूरी उपकरण हार्ट लंग मशीन मिला।

सीटीवीएस विभाग के पास मौजूद हैं सभी संसाधन : डॉ. अंशुल कुमार

रिम्स सीटीवीएस विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. अंशुल कुमार ने बताया अक्टूबर 19 से रेगुलर कार्डियक सर्जरी की शुरुआत हुई। इससे पहले बाहर के विशेषज्ञ डाक्टरों से मदद लेकर ऑपरेशन किया गया था। स्टाफ और टेक्नीशियन को भी बाहर से बुलाया गया था। अब रिम्स के सीटीवीएस विभाग के पास सभी संसाधन उपलब्ध हैं।

विकास कुमार की ओपन हार्ट सर्जरी सीटीवीएस विभाग की 100वीं सर्जरी रही

जमुई के रहने वाले विकास कुमार राय को सांस लेने में समस्या थी। साथ ही, हार्ट फेल भी हो गया था। इन्हें कार्डियोलॉजी में एडमिट करने के बाद 50 दिन दवा देकर स्वास्थ्य को स्थिर किया गया। इसके बाद कार्डियक एनेस्थीसिया से सामंजस्य स्थापित कर 30 सितंबर को मरीज का ओपन हार्ट सर्जरी किया गया। मरीज की स्थिति अभी ठीक है। सर्जरी टीम में डा अंशुल कुमार, डा राकेश कुमार (कार्डियक सर्जन), अमित कुमार (परफ्यूजनिस्ट), एनेस्थीसिया एचओडी डा उषा शुवालका, डा शिवप्रिय, डा मुकेश, सीटीवीएस के हेड प्रो आरजी बाखला शामिल थे।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker