ताज़ादुनियान्यूज़राष्ट्रीय

जामताड़ा के हैकरों की नजर सदर अस्पताल पर,आज से जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र बनना बंद

जामताड़ा के हैकरों की नजर सदर अस्पताल पर,आज से जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र बनना बंद

रांची,(झारखंड):सदर अस्पताल के उपाधीक्षक की आइडी हैक कर जन्म-मृत्यु सर्टिफिकेट बनाने के मामले में जामताड़ा का कनेक्शन मिला है। इसके बाद सदर अस्पताल में स्थित प्रज्ञा केंद्र से जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने पर रोक लगा दी गई है। अब सिविल सर्जन की निगरानी में ही अस्पताल की ओर से प्रमाण पत्र बनाए जाएंगे। इसकी जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डा विनोद कुमार ने बताया कि अभी जो प्रारंभिक सूचनाएं मिलीं हैं उसमें इस पूरे प्रकरण में जामताड़ा जिले के साइबर अपराधियों का हाथ बताया जा रहा है। हालांकि इसकी पूरी जांच पुलिस की ओर से की जा रही है, जसके बाद ही आरोपियों को पकड़ा जा सकेगा। आइडी हैक करने के बाद अब सदर अस्पताल स्थित प्रज्ञा केंद्र से जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने का काम हटा लिया गया है। इस कार्य को अब सिविल सर्जन की निगरानी में ही बनाया जाएगा।सिविल सर्जन ने बताया कि इस तरह की साइबर अपराध के बाद अब किसी तरह का कोई जोखिम नहीं लिया जाएगा और जन्म-मृत्यु का पूरा काम अस्पताल प्रबंधन की ओर से देखा जाएगा। बाकी सारे काम प्रज्ञा केंद्र में पहले की तरह ही होते रहेंगे।जन्म-मृत्यु सर्टिफिकेट बनाने के लिए टीम का गठन :जन्म-मृत्यु सर्टिफिकेट बनाने के लिए टीम का गठन किया गया है। इसके लिए एक कंप्यूटर ऑपरेटर को रख सारा काम उपाधीक्षक के द्वारा किया जाएगा। हर दिन इसकी मॉनिटिरिंग सिविल सर्जन करेंगे। इसके लिए निर्देश दिया गया है कि हर दिन बनने वाले सर्टिफिकेट की पूरी जानकारी सिविल सर्जन को देनी होगी, जिसके बाद सर्टिफिकेट निर्गत किया जाएगा। इस पूरे कार्य के लिए एक अलग से कमरे का इंतजाम किया गया है, जहां पर कर्मचारी के अलावा किसी के आने की अनुमति नहीं होगी। साथ ही साइबर अपराध से बचने के लिए कुछ खास साफ्टवेयर का भी प्रयोग किया जाएगा।साइबर अपराधियों ने यूजर नेम और पासवर्ड हैक बना लिए थे कई जन्म व मृत्यु प्रमाण पत्र : मालूम हो कि कुछ दिन पहले अस्पताल के उपाधीक्षक का यूजर नेम और पासवर्ड हैक कर हैकरों ने कई जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र बना लिए थे। जिसकी जानकारी मिलने के बाद उपाधीक्षक ने जांच की और इसकी जानकारी देते हुए थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी थी। इस घटना के बाद अन्य प्रज्ञा केंद्रों में भी जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र को लेकर जांच की जा रही है। साथ ही अन्य जिलों में भी इसे लेकर सतर्कता बरती हा रही है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker