ताज़ान्यूज़

तीन फीट ऊँची दीवार पर तम्बू लगाकर जीवन के अंतिम दिन गुजार रहा है सरहुला

चंदवा के सामाजिक कार्यकर्ता अयूब खान ने जाना वृद्ध का हाल

दोनों बेटे दूसरे राज्य के ईंट भट्ठे में करते हैं काम
आज तक न तो आवास मिला और न ही वृद्धा पेंशन
लातेहार (झारखण्ड) : लातेहार जिला के चंदवा प्रखंड के सासंग पंचायत में सिकनी डुमरटोला स्थित करम टोली बगीचा के पास प्लास्टिक का तंबू लगाकर दो वर्षों से अनुसूचित जाति के वृद्ध सरहुला भुइंया पिता स्व. नान्हू पुजेर अपना गुजर-बसर करने को विवश हैं. जमीन से तीन फीट ईंट की दीवार उठायी गयी है, बाकी ऊपर में प्लास्टिक लगाया गया है. इसकी जानकारी मिलते ही सामाजिक कार्यकर्ता अयुब खान ने गांव जाकर इस वृद्ध से मुलाकात कर उनकी समस्याओं और परेशानियों के बारे में जानकारी हासिल की. गांव में रहनेवाले लोगों से भी इस संबंध में पूछताछ की.

उन्होंने बताया कि इसका प्लास्टिक तंबू प्रखंड कार्यालय से करीब दस किलोमीटर दूर चंदवा-लातेहार के बीच एनएच 75 से डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर बनहरदी जानेवाले पथ के किनारे है. वृद्धावस्था होने के कारण सरहुला काम करने से भी असमर्थ है. इसके दो पुत्र रामवृक्ष भुइंया व लक्ष्मण भुइंया हैं, जो दूसरे प्रदेश के ईट भट्ठा मे काम करते हैं. उन्होंने बताया कि सरहुला को वृद्धावस्था पेंशन नहीं मिलती है. राशन कार्ड इसके पास नहीं है, लेकिन राशन डीलर इन्हें प्रत्येक माह पांच किलो राशन देता है. इसी से वह पानी-भात अथवा माड़-भात खाकर गुजारा कर लेता है. साग-सब्जी भी इन्हे मयस्सर नहीं होती। आवास का लाभ नहीं दिया गया है.

पड़ोस में रहने वाले ग्रामीण लालजी भुइयां, बैजनाथ भुइयां, अजय भुइयां, दिलीप भुइयां ने बताया कि इस वृद्ध व्यक्ति को रहने-खाने में भारी परेशानी हो रही है. जब बारिश होती है तब यह भीगकर ठिठुरने लगता है. यह देखकर रहा नहीं जाता, लेकिन हमलोग क्या कर सकते हैं? यह वृद्ध भूमिहीन भी है.
सरहुला भुइंया निराश और लाचार मन से कहते हैं कि हम गरीब और किस्मत के मारे लोगों को देखनेवाला कोई नहीं है बाबू! आवास और सुविधाओं के लिए क्या करें, कहां जाएं, कुछ समझ में नहीं आता. अयूब खान ने उपायुक्त अबु इमरान से तत्काल इस वृद्ध को रहने के लिए आवास की व्यवस्था करने की मांग की है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker