टेक ज्ञानताज़ादुनियान्यूज़बिज़नेसराष्ट्रीयशिक्षा

नए सिम लेने पर कस्टमर को बार-बार नहीं कराना होगा केवाईसी

सिम को प्रीपेड से पोस्टपेड या पोस्टपेड से प्रीपेड कराने पर भी नहीं करानी होगी केवाईसी

धनबाद (झारखण्ड) : यह खबर आपके काम की हो सकती है यदि आप नया टेलीफाेन कनेक्शन या मोबाइल सिम ले रहे हैं। या फिर अपने पुराने सिम को प्रीपेड से पोस्टपेड या इसके उल्ट पोस्टपेड से प्रीपेड में अपनी जरूरत के अनुसार बदलवाना चाहते हैं। अब आपकों इन सबके लिए नो योर कस्टमर (केवाईसी) का फार्म फिजिकली भरने की जरूरत नहीं जरूरत नहीं होगी। केंद्र सरकार ने नये फैसले ने इस काम को और आसान बना दिया है। जिसके आलोक में टेलीकॉम कंपनियां ये फॉर्म डिजिटल माध्यम से भरने का काम कर सकेंगी। इससे संबंधित आदेश सरकार ने हालिया संपन्न कैबिनेट की बैठक में इस फैसले को मंजूरी दे दी है।

सरकार के इस फैसले से अब सिम लेने और सिम बेचनेवालोे की ना केवल समय की बचत होगी, बल्कि अनावश्यक डाक्यूमेंटेशन के कामों से उनका बचाव होगा। गौरतलब है कि धनबाद में भी दो लाख से ज्यादा मोबाइल धारक हैं। वहीं प्रतिदिन लगभग एक सौ नये सिम जारी होने के अलावा लैंड लाइन के चार से पांच नये कनेक्शन के अलावा ब्राडबैंड के कनेक्शन किए जाते हैं। ऐसे में इन सभी लोगों को अब कम से कम दस्तावेज के साथ कम समय में ही कनेक्शन मिल जाएगा। जिससे इनको राहत मिलेगी.

एक बड़े मोबाइल सर्विस प्रोवाइडर के एरिया मैनेजर सूर्यप्रताप कहते हैं कि इस नियम के आजाने से अब उनको लोगों को कनेक्शन देने में बहुत आसानी हो गई है। पहले एक दिन में दो से तीन की ब्राडबैंड का कनेक्शन दे पाते थे, लेकिन अब सात से आठ कनेक्शन आसानी से लगा देते हैं।

अब डिजिटली होगा केवाईसी
अब से कोई नया मोबाइल नंबर या टेलीफोन कनेक्शन लेने के लिए आपकी KYC पूरी तरह से डिजिटल होगी। यानी KYC कराने को आपको कोई दस्तावेज फिजिकली जमा नहीे करना होगा। इसी तरह से पोस्टपेड सिम को प्रीपेड कराने जैसे सभी कामों के लिए अब कोई फॉर्म भरने की भी अनिवार्यता समाप्त हो गई है। इसके लिए डिजिटल KYC ही काफी होगा।
अभी के नियमों के अनुसार अगर कोई ग्राहक अपने प्रीपेड नंबर को पोस्टपेड में या पोस्टपेड को प्रीपेड में चेंज कराता है तो उसे हर बार KYC प्रोसेस पूरी करनी होती है। लेकिन अब सिर्फ 1 बार ही KYC करानी होगी। और इसके लिए आप खुद ही एक रुपये में इस काम को आनलाइन कर सकेंगें।
KYC के लिए ग्राहकों से पता के प्रमाण के अलावा कुछ और दस्तावेजों की हार्ड कापी मांगी जाती है। लेकिन आज इनको कंपनियों के वेबसाइट या ऐप्लीकेशन के जरिए आज खुद कर सकते हैं। यही प्रक्रिया सेल्फ केवाईसी कहलाती है।

इसके लिए आप सर्विस प्रोवाइडर का एप डाउनलोड करने के बाद खुद को रजिस्टर करें। जिसमें एक अल्टर्नेट नंबर देना होगा। यह आपके परिचित का भी हो सकता है। इसके बाद आप भेजे गए वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) डाल कर लागइन करें। इसमें सेल्फ केवाईसी ऑप्शन पर जाकर वांछित सुचना देकर प्रक्रिया पूरी सकते हैं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker