ताज़ान्यूज़

पानी-पानी हुई देश की नंबर वन स्मार्ट सिटी, कहीं उखड़ गए पेड़ तो कहीं बह गई अपार्टमेंट की दीवार

एकाकार हो गए नाले एवं गलियां, घरों में घुसा नालों का गंदा पानी
मौसम विभाग ने 7 जिलों में भारी से भारी बारिश होने को लेकर जारी किया रेड अलर्ट: लोगों से सतर्क रहने एवं मछुआरों को समुद्र में ना जाने की दी हिदायत
मौसम विभाग ने कहा- तीन दिनों तक जारी रहेगा बारिश का दौर
भुवनेश्वर (ओड़िशा) : देश की नंबर वन स्मार्ट सिटी तथा ओड़िशा की राजधानी भुवनेश्वर में रविवार अपराह्न को हुई मुसलाधार बारिश से सामान्य जनजवीन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। आलम यह था कि गली-नाले एकाकार हो गए। नालियों का गंदा पानी घरों में प्रवाहित होने लगा। सड़कों पर घुटने भर पानी लग जाने से कुछ समय के लिए ट्राफिक थम गया तो अपार्टमेंट की दीवार पानी के बहाव में बह गई। बड़े-बड़े पेड़ उखड़ कर धराशायी हो गए तो सड़कों पर खड़े कार ए​वं आटो रिक्सा पानी के बहाव में बहने लगे। 35 से 40 मिनट की मुसलाधार बारिश में ही पूरी राजधानी पानी-पानी हो गई। मौसम विभाग ने जुड़वा नगरी राजधानी भुवनेश्वर एवं व्यापारिक नगरी कटक के लिए आरेंज वार्निंग जारी करते हुए लोगों से सतर्क रहने का सुझाव देने के साथ ही मछुआरों को समुद्र में ना जाने की सलाह दी है। मौसम विभाग ने कहा है कि उत्तर-पश्चिम सागर में सक्रिय कम दबाव के प्रभाव के चलते शुरू हुआ बारिश का दौर 14 सितम्बर तक जारी रहेगा। 7 जिलों में भारी से भारी बारिश होने को लेकर रेड एलर्ट जारी किया गया है। इन सात जिलों में पुरी, खुर्दा, कटक, जगतसिंहपुर, केन्द्रापड़ा, ढेंकानाल तथा नयागड़ जिला शामिल हैं। वहीं गंजाम, कंधमाल, बौद्ध, अनुगुल, जाजपुर, भद्रक जिले के लिए आरेंज वार्निग जारी किया गया है। कालाहांडी, बलांगीर, सोनपुर, सम्बलपुर, देवगड़, केन्दुझर, मयूरभंज, बालेश्वर जिले के लिए मौसम विभाग ने रविवार के लिए पीली चेतावनी जारी किया है। 13 सितम्बर के लिए लिए रेड एवं आरेंज वार्निग जारी की गई है जबकि 14 सितम्बर को बरगड़, झारसुगुड़ा, सुन्दरगड़, एवं केन्दुझर जिले के लिए पीली चेतावनी जारी की गई है।
जानकारी के मुताबिक पूर्व केन्द्रीय बंगोप सागर क्षेत्र में बना कम दबाव क्षेत्र अगले 48 घंटे में उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ गति करेगा और धीरे धीरे अधिक सक्रिय होकर लो प्रेसर में तब्दील होगा। बंगोप सागर तथा उत्तर ओड़िशा एवं पश्चिम बंगाल तट के ऊपर यह कम दबाव का क्षेत्र बनेगा। इसके प्रभाव से रविवार के दिन राज्य के 8 जिले पुरी, खुर्दा, कटक, जगतसिंहपुर, केन्द्रापड़ा, ढेंकानाल, जाजपुर, जिले में भारी से भारी बारिश होने की सम्भावना है। राजधानी में आज अपराह्न में हुई भारी बारिश के बाद, आचार्य विहार, पुरी रोड, इस्कन मंदिर, कटक-पुरी रोड, बमीखाल, रसुलगड़, जीजीपी कालोनी, सैनिक स्कूल आदि निचले इलाकों में जल जमाव होने से पंपिंगसेट लगाकर जल निकासी की जा रही है। रसुलगड़ इंडस्ट्रीयल एरिया में मौजूद वैष्णव मोनार्क अपार्टमेंट की चाहरदीवारी पानी के तेज बहाव में बह गई है। बाणीविहार, रसुलगड़ आदि कुछ जगहों पर बड़े बड़े पेड़ धराशायी हो गए हैं। मौसम विभाग ने रात में 3 से 4 सेमी. बारिश होने की चेतावनी जारी करते हुए लोगों से सतर्क रहने को कहा है। मछुआरों को समुद्र में ना जाने की हिदायत दी है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker