ताज़ादुनियान्यूज़राष्ट्रीयशिक्षा

स्नातक और स्नातकोत्तर में गोल्ड मैडलिस्ट भावना को मिला 376वां स्थान

कठोर परिश्रम, लक्ष्य के प्रति एकाग्रता हो तो सफलता मिलना तय है : भावना

देवघर (झारखण्ड) : यूपीएससी के परीक्षा परिणाम में 376वां स्थान लाकर देवघर की भावना ने अपने परिवार का सपना साकार किया है। देवघर का मान बढ़ाया है। स्नातक और स्नातकोत्तर में गोल्ड मैडलिस्ट भावना ने पहली बार में ही यूपीएससी में अपना परचम लहरा दिया। पत्रकारों से बातचीत करते भावना ने कहा कि कठोर परिश्रम, लक्ष्य के प्रति एकाग्रता और दृढ़ इच्छा शक्ति हो तो सफलता मिलना तय है। स्व. सुनील कुमार दुबे की एकलौती संतान भावना की सफलता पर मां नीलम दुबे फूले नहीं समा रही है। सबसे बड़ी बात यह कि किसी कोचिंग संस्थान की दहलीज पर गए घर से तैयारी कर यह जता दिया कि परिश्रम करने से सफलता मिलती है, चाहे वह घर हो या घर से बाहर रहकर पढ़ना। संत फ्रांसिस स्कूल से 95 फीसद अंक से दसवीं उत्तीर्ण होने के बाद बाजला कालेज में दाखिला ली। यहां से अंग्रेजी में स्नातक की और स्नातकोत्तर की पढ़ाई देवघर कालेज से पूरी की। स्नातक में 72 और स्नातकोत्तर में 81 फीसद अंक लायी। भावना ने कहा कि तीन साल से वह यूपीएससी की तैयारी कर रही थी।

यह पूछने पर कि पढ़ाई के साथ साथ यूपीएससी की तैयारी कैसे कर ली। बताया कि 2020 में एमए की पढ़ाई पूरी की लेकिन स्नातक करने के बाद से ही तैयारी में जुट गयी थी। कोविड काल होने के कारण कालेज जाने का कम मौका मिला और दस घंटा समय इसके लिए निकालने लगी। करेंट अफेयर्स के लिए अंग्रेजी समाचार पत्र, पत्रिका पढ़ने लगी। एनसीईआरटी से तो आरंभ से ही तैयारी कर रही थी। देवघर के जसीडीह स्थित बाघमारा की रहने वाली भावना की सफलता की खुशी की खबर मिलने पर मां नीलम दुबे, मौसा अरूण कुमार मिश्रा और मौसी पूनम देवी ने मिठाई खिलाकर आशीर्वाद दिया।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker