चुनावताज़ान्यूज़

पाकुड़ : 54 वर्षों बाद हुआ प्रधान का चयन, रिजवान के हाथों में कमान

मतदान के माध्यम से हुआ प्रधान का चयन, आठ ने पेश किया था दावा

ग्राम सभा में उपस्थित 162 रैयत, चयन प्रक्रिया में बरती गई थी सावधानी

पाकुड़ (झारखंड) : पाकुड़ जिला के मंझलाडीह मौजा के लिए ग्राम प्रधान का चयन शनिवार को ग्रामसभा आयोजित कर किया गया। यह चुनाव 54 वर्ष बाद हुआ। आठ अभ्यर्थियों ने दावा पेश किया था। चुनाव के माध्यम से प्रधान का चयन किया गया। रिजवान अंसारी को प्रधान चुना गया। पूर्व प्रधान मोहम्मद की मृत्यु के बाद प्रधान का पद खाली पड़ा हुआ था। मंझलाडीह मौजा के लिए प्रधान चुनाव में अंचल निरीक्षक विकास बास्की मौजूद थे। इस ग्राम सभा में करीब 162 रैयत उपस्थित थे। ग्राम प्रधान पद के लिए आठ दावेदारों ने दावा पेश किया। प्रधान पद में चयन के लिए शाम तक हंगामा होता रहा। इसके बाद अंचल प्रशासन ने चुनाव कराने का फैसला लिया। उपस्थित रैयतों के बीच ग्राम प्रधान पद के लिए मतदान कराया गया। इसमें रिजवान अंसारी को सर्वाधिक 23 वोट मिले। उन्हें ग्राम प्रधान घोषित कर दिया गया।

अंचल निरीक्षक ने बताया कि इस मौजा में ग्राम प्रधान का पद वर्षो से रिक्त पड़ा था। राजस्व वसूली सहित अन्य कार्य राजस्व कर्मचारी के माध्यम से किया जा रहा था। पूर्व निर्धारित ग्रामसभा में रैयतों के बीच मतदान कराया गया। इसमें रिजवान अंसारी ग्राम प्रधान पद पर निर्वाचित हुए। वहीं अन्य मौजा में भी ग्राम प्रधान का चयन कर लिया गया है। इधर, नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान ने कहा कि रैयतों ने जिस उम्मीद से मुझे जिम्मेदारी सौंपी है उसका ईमानदारी पूर्वक निवर्हन करूंगा। उन्होंने कहा कि मंझलाडीह मौजा के तमाम जनता के साथ न्याय होगा। किसी के साथ भी गलत नहीं होगा। इस मौके पर राजस्व कर्मचारी संजय सरदार, समाजसेवी रोबिन टुडू सहित पुलिस पदाधिकारी उपस्थित थे।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker