ऑटोटेक ज्ञानताज़ादुनियान्यूज़बिज़नेसराष्ट्रीय

एंड टू एंड इंक्रिपटेड होने के कारण ज्यादातर लोग इस्तेमाल करते हैं वाट्सएप, कंपनी के फैसले पर रांची के लोगों ने जताया संतोष

एंड टू एंड इंक्रिपटेड होने के कारण ज्यादातर लोग इस्तेमाल करते हैं वाट्सएप, कंपनी के फैसले पर रांची के लोगों ने जताया संतोष

रांची,(झारखंड):निजता के सवाल पर वाट्सएप को आखिरकार झुकना पड़ा। वाट्सएप की नई प्राइवेसी पालिसी को लेकर जो केस दिल्ली हाईकोर्ट में चल रहा था। उसमें वाट्सएप ने दिल्ली हाईकोर्ट में कहा है कि वह तक भारत में अपनी नई प्राइवेसी पालिसी लागू नहीं करेगी जब तक डाटा प्रोटेक्शन बिल नहीं आ जाता। कंपनी ने कोर्ट में कहा कि वो अपने ग्राहकों को तब तक इस पालिसी को स्वीकार करके के लिए बाध्य नहीं करेगा जब तक विधेयक या संसद से उसे स्वीकृति नहीं मिल जाती है। कंपनी के इस बयान से रांची के वाट्सएप ग्राहकों में बड़ा उत्साह है। लोगों का कहना है कि वो वाट्सएप एंड टू एंड इंक्रिपटेड होने के कारण इस्तेमाल करते थे। उन्हें पूरी उम्मीद है कि उनके निजता की रक्षा होगी। ऐसे में उन्हें किसी दूसरे प्लेटफार्म पर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

सुरक्षित है आपका डाटाः
आईटी एक्सपर्ट प्रकाश दूबे बताते हैं कि वाट्स एप बड़ी और जिम्मेदार मैसेंजर कंपनी है। ऐसे में इसकी मंशा पर शक नहीं किया जा सकता है। हम इंटरनेट के ऐसे युग में रह रहे हैं। जहां हम पल पल के लिए इससे जुड़े इंस्टैंट मैसेजिंग एप पर आश्रित हैं। ऐसे में वाट्सएप के द्वारा निजता से जुड़ी पालिसी से लोगों के निजी जिंदगी पर फर्क नहीं पड़ेगा। कंपनी ने हाल ही स्पष्ट किया था कि उसके नए पालिसी से आमलोगों की निजता पूरी तरह से सुरक्षित रहेगी। कंपनी के अनुसार आपका पूरा डाटा यहां सुरक्षित है।

संतुष्ट नहीं तो और हैं विकल्पः
आईटी एक्सपर्ट अंकित कुमार सिंह बताते हैं कि वाट्सएप के कारण लोगों की निजता को फिलहाल कोई खतरा नहीं है। फिर भी अगर लोगों के मन में सवाल या एप के इस्तेमाल में कोई परेशानी है तो उनके लिए कई विकल्प मौजूद हैं। वर्तमान में वाट्सएप के साथ इंडियन मैसेजिंग प्लेटफार्म टेलिग्राम काफी लोकप्रिय हुआ है। इसकी सर्विस और यूजर एरिया वाट्स एप से ज्यादा है। इसके साथ ही, गुगल की मिट, जूम, वाइबर, आदि का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।
——- क्या कहते हैं लोग————-
एक लंबे समय से वाट्स एप का इस्तेमाल कर रहा हूं। मगर निजता के सवाल पर काफी शंका हो रही है। हालांकि कंपनी के इस बयान से संतोष है।
शुभांकर, रांची
हमें डर है कि कहीं हमारे फोटो और पर्सनल चैट सार्वजनिक न हो, ऐसे में वाट्स एप से अब भरोसा उठता जा रहा है। मैं अभी से विकल्प देख रही हूं।
शिल्पी सिंह, रांची
इंटरनेट स्पेश में निजता का खतरा काफी ज्यादा है। कोई आपके डाटा को हैक करके इसका गलत इस्तेमाल कर सकता है। आए दिन बड़ी कंपनियों के ऐसे डाटा लिक की खबर आते हैं। ऐसे पालिसी ही नहीं होनी चाहिए।
प्रिंस, रांची

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker