ताज़ादुनियान्यूज़राष्ट्रीय

एसीबी ने 10 हजार रुपये रिश्वत लेते मनरेगा जेई को दबोचा

एसीबी ने 10 हजार रुपये रिश्वत लेते मनरेगा जेई को दबोचा

कूप निर्माण कार्य का एमबी करने के एवज में मांग रहा था रिश्वत

चतरा,(झारखंड):एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने बुधवार को दस हजार रुपये लेते हुए मनरेगा के कनीय अभियंता निजामुद्दीन को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार कनीय अभियंता जिले के सिमरिया प्रखंड में पदस्थापित था। वैसे रहने वाला जिला मुख्यालय, चतरा स्थित लाइन मोहल्ला आजाद नगर का है। गिरफ्तारी स्थानीय शहर पुराना पेट्रोल पंप के समीप से हुई है। सिमरिया के गोवाकला की उर्मिला देवी मनरेगा से कूप का निर्माण करवा रही है। कूप की योजना संख्या 3417000900044 एफ/7080902196215 और प्राक्कलित राशि 4,47,624 रुपये है। काम के विरुद्ध लाभुक को 1.35 लाख रुपये का भुगतान हो चुका है। निर्माण का कार्य पूरा हो चुका है। शेष राशि की निकासी के लिए अनुबंधित कनीय अभियंता निजामुद्दीन से संपर्क किया। जेई ने उसके एवज में 15 हजार रुपये की रिश्वत मांगी। एसीबी के अधिकारियों ने बताया कि लाभुक उर्मिला देवी रिश्वत देना नहीं चाहती थी। वे एंटी करप्शन ब्यूरो का हजारीबाग स्थित कार्यालय से संपर्क किया और कनीय अभियंता के खिलाफ लिखित शिकायत की। शिकायत के सत्यापन के लिए एसीबी की टीम सिमरिया पहुंची। मामला सही पाया और उसके बाद विधिवत रूप से प्राथमिकी दर्ज की गई। प्राथमिकी के बाद उसकी गिरफ्तारी को लेकर रणनीति तैयार की गई। एसीबी अधिकारियों के कहने पर उर्मिला देवी रिश्वत के रूप में दस हजार रुपये देने के लिए तैयार हो गई। कनीय अभियंता रिश्वत की राशि लेकर चतरा स्थित पुराना पेट्रोल पंप के समीप बुलाया। रिश्वत की राशि जैसे ही ले रहा था, वैसे ही एसीबी ने धर दबोचा। उसके बाद तलाशी के लिए आजाद नगर स्थित आवास ले गए। घर की तलाशी के बाद अपने साथ हजारीबाग ले गए।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker